News

श्री फैसल शेख उपाध्यक्ष महाराष्ट्र कामगार शाक्ति सेना🏹* , का  कहेना है जो लोग हाजी अराफात से प्रोबलेम है वो लोग को पार्टी के सुप्रीमो उद्धवजी से मिलके शिखयत करनी चाइये ना कि गुदबाजी करनी चाइये हाजी अराफात को भी  पार्टी के प्रोटोकोल को मेन्टेन करने चाइये 

*श्री फैसल शेख उपाध्यष महाराष्ट्र कामगार शाक्ति सेना🏹* , का  कहेना है जो लोग हाजी अराफात से प्रोबलेम है वो लोग को पार्टी के सुप्रीमो उद्धवजी से मिलके शिखयत करनी चाइये ना कि गुदबाजी करनी चाइये हाजी अराफात को भी  पार्टी के प्रोटोकोल को मेन्टेन करने चाइये 
पार्टी के लोगो को परिपक्वता दिखाने चाइये इससे पार्टी की छवि खराब होती दिखाई देरहि है
फैसल शेख नाम बताने से मना किये लेकिन इशारा साफ था
फैसल का मानना है शिव सेना ऐसी पार्टी है जमीनी स्तर से लोगो से जुड़ी है हर जाति के लोग पार्टी में शामिल है , हमेशा ये ही पार्टी की ताकत बानी है
फैसल ने ये भी आरोप खारिश करते हुए कहा पार्टी में कभी जातपात नही हुई
फैसल ने पार्टी में जुड़े होने का कारण बताया गरीब कामगार के लिए सिर्फ ओर सिर्फ शिव सेना लड़ती आयी है 
फैसल शेख कभी भी शुक्रिया में नही रहे लेकिन लोगो के हक़ केलिए लड़ते रहे शिव सेना के माधियाम से

News

​पीएम मोदी के भाषण की शिकायत लेकर थाने पहुंचीं महिला, ‘देशद्रोह’ का मुकदमा दर्ज कराने की मांग


ओरंगाबाद (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के ओरंगाबाद में एक वकील ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज करने की मांग की है। ओरंगाबाद के सिडको पुलिस स्टेशन में वकील ने लिखित शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में कहा गया है प्रधानमंत्री के संबोधन की सामग्री संवैधानिक प्रावधानों का उल्लंघन है। वकील रामा विट्ठलराव काले ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को संबोधित यह शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई है, जिसमें उन्होंने दलील दी है कि मंगलवार को लाल किले के प्राचीर से दिए अपने 55 मिनट के भाषण में मोदी ने कई बार इंडिया और भारत का ‘हिंदुस्तान’ के तौर पर जिक्र किया।
काले ने बुधवार को कहा, संविधान के अनुच्छेद एक के अनुसार, इंडिया या भारत का उल्लेख है। संविधान में कही भी हिंदुस्तान का उल्लेख नहीं है, जो कि देश के धार्मिक नाम को प्रकट करता है। उन्होंने कहा कि भारत का हिंदुस्तान के तौर पर जिक्र 125 करोड़ भारतीयों व दुनिया भर में भारतीयों का अनादर है। इससे सभी देश भक्त लोगों का अपमान हुआ है।
काले ने कहा है, भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर इस तरह का गैर जिम्मेदाराना और गलत संदर्भ देना (हिंदुस्तान के तौर), जिसे संविधान में कोई स्थान नहीं दिया गया, साफ तौर पर संविधान का अपमान है और अनुच्छेद एक का उल्लंघन है।
इसके अलावा शिकायत में लिखा है कि इसके अलावा पीएम मोदी ने चुनाव के दौरान कई ऐसे वादे किए थे जो पूरे नहीं किए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब जनता को पंद्रह लाख रुपये खाते में देने की बात कही थी लेकिन आज तक हर किसी के खाते में पंद्रह लाख रुपये नहीं आए हैं।

News

​हाथ की सफाई से महंगे सामानों पर करते हाथ साफ़, अब हैं जेल के अंदर

जादूगरी हाथ की सफाई का खले होता है. मुंबई के मालाड में कुछ लोग इसी हाथ की सफाई से कई लोगों के सामानों पर हाथ साफ़ किया करते थे। लेकिन अब इस टोली के 4 सदस्यों को बांद्रा जीआरपी की एलसीबी (लोकल क्राइम ब्रांच) ने गिरफ्तार किया है, साथ ही इनके पास से 5 लाख रूपये का चोरी का सामान भी जब्त किया है। इस गिरोह के 5 सदस्य अभी भी फरार हैं जिनमें गिरोह का मुखिया भी शामिल है।
मालाड इलाके को ही क्यों चुना

इस टोली के लोग बड़े ही शातिर थे। ये लोग भीड़ में इकट्ठे होकर लोगों के सामानों पर हाथ की सफाई करना था। इनका टार्गेट मालाड का इलाका ही होता क्योंकि इस क्षेत्र में कई हीरे व्यापारी और गहनों का व्यापार करने वाले रहते हैं।  
इस तरह से करते थे हाथ की सफाई

इस टोली में कई लोग शामिल रहते थे। अपने टार्गेट को देखते ही कोडवर्ड में बोलते की ‘धुर जा रही है’। यह कोडवर्ड सुनते ही सभी सजग हो जाते थे और टार्गेट के आगे और पीछे ग्रुप में चलने लगते थे। इतने में ग्रुप का एक सदस्य टार्गेट के पास स्थित बैग को खींच लेता था और झट से अपने पीछे वाले को दे देता था। पीछे वाला सदस्य उस बैग को अपने पास में रखे बैग में भर लेता था। 5 से 6 लोगों की भीड़ रहने के कारण पीड़ित को कुछ भी नहीं दिखता. यह सब इतना जल्दी होता कि पीड़ित सदस्य कुछ देख ही नहीं पाता था। जब पीड़ित अपने पीछे वाले से बोलता कि ‘मेरा बैग किसने खींचा’ तब सभी सदस्य एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाकर वहां से खिसक लेते थे।
पुलिस से की शिकायत

3 अगस्त के दिन जब इसी तरह से मालाड के एक ज्वेलर्स के व्यापारी हितेश वकारिया बैग लेकर कहीं जा रहे थे तभी इनके साथ भी इस टोली ने यही कार्य को अंजाम दिया। हितेश के पास स्थित वकारिया की बैग इन्होने छीन लिया। उस बैग में 12 लाख रुपए के गहने थे। हितेश ने तत्काल इसकी शिकायत पुलिस  स्टेशन में की।
कैसे आए गिरफ्त में?

कई शिकयतें मिलने के बाद एलसीबी ने इसकी जांच शुरू की। एलसीबी ने जिन स्थानों पर यह घटना घटी वहां के कई सीसीटीवी फुटेज चेक किये। पुलिस को जाँच में यह भी मिला कि जितनी भी लूट की घटना हुई है सभी की मोडस आपरेंडी एक ही है। इसी जांच के दौरान एलसीबी को मालाड इलाके में फिर से इसी तरह की घटना होने की खबर मिली। एलसीबी ने उस इलाके में कई स्थानों पर अपने लोगों को सिविल में तैनात किया। आखिरकार मालाड इलाके से ही इन्होने उस गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार लोगों के नाम कुंचीकर्वे उर्फ सत्या, निखील पप्पू देवाल उर्फ नवाब, महमद आदम दायतर उर्फ बटला, जबीर अली साबीर अली सय्यद है।

पुलिस ने बताया कि इस गैंग के 5 लोग अभी भी फरार है। फिलहाल पुलिस ने गिरफ्तार लोगों के पास से 5 लाख रूपये का चोरी का सामान भी जब्त किया। गिरफ्तार लगों से पुलिस पूछताछ में लग गई है।

News

दही हांडी समारोहों के दौरान 2 ‘गोविंदाओं’ की मौत, 117 लोग घायल

 
मुंबई: जन्माष्टमी के मौके पर मुंबई और आसपास के इलाकों में दही हांडी समारोहों के दौरान मानव पिरामिड बनाते समय हुई दुर्घटनाओं में दो गोविंदाओं की मौत हो गई है. इसके अलावा इन घटनाओं में 117 अन्य लोगों के घायल होने की जानकारी भी सामने आई है
बता दें कि पालघर और ऐरोली में एक-एक गोविंदा की मौत हुई. इस अवसर पर दही हांडी तोड़ने के लिए समूचे महाराष्ट्र में गोविंदाओं की टोलियों के बीच प्रतिस्पर्धा रहती है. जन्माष्टमी का त्योहार घाटकोपर, दादर, लालबाग और भांडुप सहित समूचे शहर में पूरे उत्साह के साथ मनाया गया. नगर निकाय के अधिकारियों के मुताबिक शाम पांच बजे तक मुंबई में करीब 45 गोविंदा घायल हुए हैं.
अधिकारियों ने बताया कि घायलों में एक की हालत गंभीर है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि अन्य लोगों का प्राथमिक उपचार करने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. पुलिस ने बताया है कि पालघर में 21 साल के रोहन किनी की मिरगी का दौरा पड़ने से मौत हो गई. हांडी तोड़ने के बाद उसे मानव पिरामिड से नीचे उतारा गया, लेकिन इसके तुरंत बाद उसे मिरगी का दौरा पड़ा. अस्पताल ले जाते समय शाम करीब साढ़े छह बजे उसकी मौत हो गई.
ऐरोली में जयेश सरले नामक गोविंदा की मौत हुई. उसकी मौत बिजली के तार की चपेट में आने से हुई. गौरतलब है कि एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान बंबई हाईकोर्ट को राज्य सरकार ने यह भरोसा दिलाया था कि वह यह सुनिश्चित करेगी कि 14 साल से कम उम्र के बच्चे दही हांडी पिरामिड बनाने में भाग नहीं लेंगे.
                 

News

​बिहार का सृजन घोटाला : बीजेपी नेता विपिन शर्मा ने मॉल में बुक कराई थी 4 दुकानें


पटना: बिहार के सृजन घोटाले में अब तक 700 करोड़ रुपये के हेरफेर की जानकारी प्राप्त हो रही है और  अब इस मामले में केस दर्ज हुआ है. हालांकि भागलपुर जिला अधिकारी आदेश तितरमारे का दावा है  दावा है कि सृजन ने या बैंकों ने जमा राशि के करीब 50 प्रतिशत राशि यानि 300 करोड़ से अधिक भुगतान भी किया हैं.  हालांकि पुलिस का कहना है कि ये राशि 900 करोड़ तक जा सकती है. इस बीच इस मामले की जांच कर रही भागलपुर पुलिस और एसआईटी द्वारा मांगी गई जानकारी के जवाब में GTM मॉल के डायरेक्टर ने स्वीकार किया कि मनोरमा देवी जो इस घोटाले की  मास्टरमाइंड रही हैं, इनके बेटे अमित कुमार ने एक दुकान की बुकिंग कराई थी और बीजेपी नेता और राज्य किसान मोर्चे के उपाध्यक्ष विपिन शर्मा ने 4 दुकानों की बुकिंग कराई थी जिसके बदले अब तक 13 लाख से अधिक का भुगतान भी उन्हें मिला था.  विपिन की तलाश भागलपुर पुलिस  कर रही है  और इस मामले के उजागर होने के बाद से वह फरार चल रहे है. ये मॉल बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे की जमीं पर बन रहा है.  
हालांकि निशिकांत दुबे ने कहा है कि मॉल में कौन दुकान खरीद रहा है, उससे उनका कोई लेना-देना नहीं है. उनके साथ डेवलपर के समझौते के अनुसार इस  मॉल में बनने वाले होटल, मल्टीप्लेक्स और पार्किंग पर उनकी हिस्सेदारी होगी लेकिन अभी तक वो इंतजार में बैठे हैं कि निर्माण कार्य पूरा हो.  दुबे ने इस बात पर आपत्ति जाहिर की कि आखिर उनका नाम क्यों घसीटा जा रहा है. पुलिस का कहना है कि जहां विपिन बीजेपी से जुड़े रहे हैं वहीं दुबे की जमीं पर निर्माणाधीन माल पर एक नहीं दो घोटालेबाजो का निवेश इस बात का सबूत है कि घोटाले का पैसे से अकूत सम्पत्ति अर्जित की गई है.  विपिन शर्मा की कहानी जहां कुछ वर्ष पूर्व तक उनके पास कुछ भी नहीं था वो रातों रात एक नहीं कई दुकान और बिज़नेस के मालिक बन गए.  
सूत्रों बताते हैं कि सृजन का पूरा घोटाला विपिन द्वारा पैसा न लौटाने की जिद के कारण हुआ.  मनोरमा देवी ने अपने जीवन में कई लोगों को पैसा दिया और बैंको में भुगतान की हालत में वो पैसे उन लोगों से लेकर वापस जमा करती थी.  लेकिन विपिन ने उनकी मौत के बाद पैसा देने से इनकार कर दिया, जिससे उनके और मनोरमा देवी के बेटे अमित में काफी तनाव हो गया.  और जब अमित ने पैसा जमा करने में अपनी लाचारी दिखाई तब बैंको के पास जारी चेक को बाउंस करने के अलावा कोई चारा नहीं रहा.
अभी तक जांच के घेरे में जहां राजनेतओं में विपिन शर्मा की सीधा भूमिका सामने आई है वहीं नजीर महेश मंडल जिनका आलीशान मकान जांच एजेंसियो ने पकड़ा था उनका भी सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड से सीधा सम्बन्ध रहा है. उनका एक बेटा शिव मंडल न केवल जिला परिषद का सदस्य है और भागलपुर युवा जनता दल यूनाइटेड का अध्यक्ष भी था. हालांकि घोटाले में महेश का नाम आने के बाद उसे निलंबित कर दिया गया है.  
इस बीच राजद अध्यक्ष लालू यादव ने कहा कि सृजन घोटाले में असल मास्टरमाइंड जैसे मनोरमा देवी के बेटे अमित कुमार हो या बीजेपी नेता विपिन शर्मा उन्हें बचाने के लिए पुलिस ने गिरफ़्तारी न कर उन्हें भागने का मौका दिया.  इस बीच बृहस्पतिवार को तेजस्वी यादव भागलपुर में एक जनसभा को सम्बोधित करेंगे.

News

​#Terror झारखंड में अलकायदा के 20 आतंकी! जीशान से जुड़े हैं तार, जल्द होंगे गिरफ्तार

रांची : आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) को झारखंड में अलकायदा के 20 आतंकवादियों की तलाश है. एटीएन को इन सभी आतंकवादियों के बारे में जानकारी मिल गयी है. सऊदी अरब से गिरफ्तार आतंकवादी जीशान ने बताया है कि राज्य के 20 युवा उसके संपर्क में हैं. इनमें से 6 रांची के और 8 जमशेदपुर के हैं. जीशान खुद जमशेदपुर का है.
दिल्ली में जीशान से पूछताछ के दौरान मिली जानकारी के आधार पर एटीएस ने इन आतंकवादियों के बारे में विस्तृत जानकारी जुटानी शुरू कर दी है. हर एक शख्स के बारे में पूरी जानकारी एकत्र की जा रही है. किसी भी युवा को गिरफ्तार करने से पहले यह तसल्ली कर लेना चाहती है कि जीशान ने जो जानकारी दी है, वह सही है. उसने जिन लोगों के नाम बताये हैं, सभी आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त हैं या नहीं. कहीं जीशान इन लोगों को फंसाने की कोशिश तो नहीं कर रहा.
जमशेदपुर के रहनेवाले जीशान को सऊदी अरब में गिरफ्तार किया गया और एटीएस की टीम पिछले दिनों उसे दिल्ली लेकर आयी. पेशे से सॉफ्टवेयर डेवलपर जीशान अभी 27 साल का है. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) से पढ़ाई करनेवाले इस शख्स पर जमशेदपुर के बिष्टुपुर थाने में एक मुकदमा भी दर्ज है.

झारखंड एटीएस इस मामले की भी जांच कर रही है. झारखंड एटीएस की दो टीमें, जिसमें 6 सदस्य हैं, इस वक्त दिल्ली में मौजूद हैं और जिशान से लगातार पूछताछ कर रहे हैं. ये लोग एक सप्ताह और दिल्ली में ही रहेंगे. जिशान का भाई और अरशियान 2015 से रूस में रह रहा है. उसने भी इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है. एटीएस को शक है कि वह भी आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त है.
यहां बताना प्रासंगिक होगा कि दिल्ली एटीएस को सूचना मिली थी कि आतंकवादी संगठन अलकायदा ने भारत में 15 अगस्त को गड़बड़ी फैलाने की साजिश रची है. इसके बाद जीशान को सऊदी में गिरफ्तार कर लिया गया और उसे भारत लाया गया. वर्ष 2016 में भी उस पर स्वतंत्रता दिवस के दौरान गड़बड़ी फैलाने की साजिश का आरोप लगा था.

बताया जाता है कि भारत में अलकायदा ने अपना मॉड्यूल खड़ा कर रखा था, जिसे इंडियन अलकायदा झारखंड नाम दिया था. इसकी अगुवाई जमशेदपुर का ही कटकी कर रहा था. कटकी की गिरफ्तारी के बाद ही पुलिस को जीशान के बारे में मालूमात हुआ. दिल्ली में मौजूद झारखंड एटीएस की टीम से मिल रही जानकारी के आधार पर झारखंड पुलिस हर संदिग्ध पर पैनी नजर बनाये हुए है.
बताया जा रहा है कि पुलिस ने सभी संदिग्ध युवाओं के बारे में सारी जानकारियां जुटा ली है. जैसे ही दिल्ली में मौजूद टीम उनके आतंकवादी होने की पुष्टि करेंगे, झारखंड में सभी को गिरफ्तार कर लिया जायेगा.

यहां बताना प्रासंगिक होगा कि यह पहला मामला नहीं है, जब झारखंड में आतंकवादियों के होने की पुष्टि हुई है. देश में हुई कई आतंकवादी घटनाओं से झारखंड के लोगों के तार जुड़ते रहे हैं. कुख्यात दानिश और मंजर इमाम झारखंड की राजधानी रांची से गिरफ्तार हुए थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पटना जनसभा में हुए हमले की साजिश भी रांची के सीठियो गांव में ही रची गयी थी.