News

नजीब की माँ को आज दिल्ली पुलिस गिरफ्तार करते हुए !!


नजीब की माँ को आज दिल्ली पुलिस गिरफ्तार करते हुए !!नजीब को गायब हुए एक साल एक दिन हो गया है !!

Advertisements
News

​FIR कराने आए शख्स को मुंबई पुलिस ने खिलाया केक…. जानिए क्यों

पुलिस के मानवीय चेहरे के बारे में कम ही खबरें सुनने को मिलती है. लेकिन मुंबई पुलिस ने कुछ ऐसा किया है जिसकी सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है. दरअसल, मुंबई के साकीनाका पुलिस थाने में अनीश नाम का एक युवक एफआईआर दर्ज़ कराने आया. उसी दिन उसका जन्मदिन भी था.
जब एफआईआर लिखवाते वक्त उसकी व्यक्तिगत जानकारी के बारे में पूछा गया तो पुलिसवालों को पता चला कि इसी दिन उसका बर्थडे भी है.
बस फिर क्या था, पुलिसवालों ने अनीश के लिए केक मंगा लिया और पुलिस स्टेशन में ही उसके जन्मदिन का जश्न मनाया गया.

ट्विटर पर शेयर तस्वीरों को लेकर ट्विटर यूजर्स ने मुंबई पुलिस की तारीफ की है, तो कुछ यूजर्स ने मजाक में कहा है कि मुंबई पुलिस इसे अपनी आदत में न शामिल कर ले, वरना हर कोई केक के लालच में जन्मदिन पर ही एफआईआर लिखवाने पुलिस स्टेशन पहुंच जाएगा.
आशीष को केक के साथ उसकी एफआईआर की कॉपी भी सौंपी गई.

News

मुंबई माहिम वांजवादी में आयोजित 5000 लिट्रेस शर्बत

📽 https://youtu.be/cKc3JwAD3gc। 📽
 *मुहहरम के मौके पे नियाज़ के तोरपे लोगो मे बता गया सभी जाती के लोगो ने शर्बत का मज़ा लिये , निगाहे करम कमिटी में युवा वांजवादी के लड़के है इनका मकसद सोसाइटी अमन भईचारा का मैसेज देना था और कामयाब भी हुई*

News

​एक्सटोर्शन के आरोप में एक और डॉन हुआ गिरफ्तार

डॉन दाऊद इब्राहीम के भाई इकबाल कासकर के बाद पुलिस ने एक और डॉन डीके राव को गिरफ्तार किया है।
गैंगस्टर डीके राव को मुंबई क्राइम ब्रांच की CIU शाखा ने एक्सटोर्शन के आरोप में गिरफ्तार किया है।बताया जाता है कि एंटॉप हिल में जारी एक SRA प्रोजेक्ट के प्रोजेक्ट कंसल्टेंट से 50 लाख रूपये हफ्ते की मांग की थी।

सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर एंटॉप हिल में 1000 करोड़ का SRA प्रोजेक्ट चल रहा था जो पिछले कई सालों से लटका हुआ था। 2013 में एक बिल्डर की मध्यस्था के बाद यह प्रोजेक्ट फिर से शुरू हुआ, लेकिन इसके बाद उक्त बिल्डर को डीके राव के नाम से एक्सटोर्शन के फोन आने लगे, चूँकि उस समय डीके राव जेल में था इसीलिए बिल्डर ने फोन पर अधिक ध्यान नहीं दिया।

जुलाई 2016 में डीके राव जब जेल से बाहर छुटा और छूटने के बाद उसने बिल्डर को धमकी देने का सिलसिला और भी बढ़ा दिया। काम नहीं होता देख जून 2017 में डीके ने बिल्डर को धारावी में एक स्थान पर बुलाया और उसे धमकी देते हुए उससे 50 लाख रूपये की मांग की। इसके बाद बिल्डर ने धारावी पुलिस स्टेशन में डीके राव के खिलाफ शिकायत दर्ज की।

क्राइम ब्रांच के डीसीपी दिलीप सावंत ने बताया कि क्राइम ब्रांच के द्वारा जांच करने पर इस मामले में डीके राव के हाथ होने के सबूत मिले जिससे उसे गिरफ्तार कर लिया गया। सावंत ने आगे बताया कि बिल्डर की शिकायत के बाद डीके राव को आईपीसी की धारा 387, 504, 506(2) और 34 के तहत गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। जहां से कोर्ट ने उसे 18 अक्टूबर तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश दिया है।

कौन है डीके राव?

हिस्ट्री शीटर डीके राव छोटा राजन के लिए काम करता है। लगभग 20 साल जेल में गुजारने के बाद कुछ दीन पहले ही छुटा था। दो बार यह एनकाउंटर में भी बच चुका है। इसके उपर लगभग 47 केस दर्ज हैं साथ ही इस पर मोका के तहत भी मामला चल रहा है। इतना ही नहीं बताया जा रहा है कि डीके जेल के अंदर से ही एक्स्टोर्शन के मामले को अंजाम देता है। डीके राव का नाम पत्रकार जेडे मर्डर केस में सामने आया था जिसमें इसे भी आरोपी बनाया गया है।

News

​बाहुबली साबित हुई कांग्रेस, नांदेड़ मनपा चुनाव में भारी बहुमत से जीती

नांदेड़ में हुए मनपा चुनावों में कांग्रेस को एकतरफा जीत हासिल हुयी है। इस जीत ने महाराष्ट्र कांग्रेस के लिए संजीवनी का काम किया है। नांदेड़ महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और महाराष्ट्र के कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण का गृहनगर भी है। इस मनपा चुनाव में कांग्रेस ने 81 सीटों में 66 सीट पर कब्ज़ा किया, वोटो की गिनती जरी है संख्या और भी बढ़ सकती है। इस जीत से अभिभूत होकर मुंबई कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने खुशियां मनाई। दादर में तिलक भवन में कार्यकर्ताओं के साथ ढोल ताशे बजा कर और मिठाइयां खिला कर अपनी ख़ुशी जाहिर की।

इस चुनाव में खुद बीजेपी की तरफ से मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, शिवसेना की तरफ से उद्धव ठाकरे और MIM की तरफ से ओवैसी बंधूओं ने कई रैलियां कर लोगों से वोट की अपील की थी। हालांकि बीजेपी और शिवसेना ने यहां अलग अलग चुनाव लड़ा था। समाचार लिखे जाने तक वोटो की गिनती जारी थी. 81 सीटों में से बीजेपी को मात्र 6 तो शिवसेना को 1 ही सीट मिली थी जबकि एनसीपी, MIM का खाता भी नहीं खुला था।

इस चुनाव में मिली हार से बीजेपी की मोदी लहर अब समाप्त नजर आ रही है, उसे एक बार फिर से अपनी रणनीति पर विचार करना होगा तो वहीँ कांग्रेस अब दुगुने उत्साह के साथ काम करेगी।

News

​मुंबई बीजेपी के सभी प्रवक्ताओं की बोलती बंद, मीडिया से बात नहीं करने के दिए गये निर्देश

नांदेड़ मनपा चुनाव में मिली हार से बीजेपी सकते में आ गयी है। हार से खिझी बीजेपी ने एक ऐसा कदम उठाया है जिसे सुन कर आप भी चौंक जाएंगे। मुंबई लाइव के हाथ लगी एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक़ बीजेपी ने मुंबई के अपने सभी प्रवक्ताओं को किसी भी न्यूज़ चैनल में या किसी भी मीडिया पर्सन से कुछ भी बात करने या प्रतिक्रिया देने के लिए सख्त मना किया है।

क्यों उठाया यह कदम?

सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी के द्वारा उठाये गये इस कदम के पीछे एलिफिंस्टन रेलवे हादसा है। अब आप यह सोचेंगे कि यह क्या बात हुई। इसके पीछे एलिफिंस्टन रेलवे हादसे का क्या लेना देना है? तो बात कुछ ऐसी है कि एलिफिंस्टन रेलवे हादसा के बाद विरोधियों के निशाने पर बीजेपी आ गयी थी। कई न्यूज़ चैनल्स ने डीबेट के लिए विपक्ष के प्रवक्ताओं को अपने चैनल में आमंत्रित करना शुरू किया तो वहीँ बीजेपी के प्रवक्ताओं को भी अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया जाने लगा। लेकिन इस डीबेट में कुछ प्रवक्ताओं ने ऐसी बातें कहीं जिससे बीजेपी को ही शर्मिंदा होना पड़ा, इसीलिए मुंबई अध्यक्ष आशीष शेलार, मुख्य प्रवक्ता माधव भंडारी और केशव उपाध्ये की तरफ से मुंबई के सभी प्रवक्ताओं को निर्देश दिया गया है कि वे किसी भी मुद्दे पर किसी भी समाचार और पत्र, पत्रकाओं के संवाददाताओं से नांदेड़ चुनाव मुद्दे पर कुछ भी बात नहीं करेंगे। 

इस बाबत जब मुंबई  लाइव ने प्रवक्त्या संजू वर्मा से सम्पर्क किया और उनसे इस खबर की पुख्ता जानकारी लेनी चाही तो उन्होंने कुछ भी बोलने से मना किया और इस बारे में मुंबई भाजपा अध्यक्ष आशिष शेलार से बात करने की सूचना दी, तो वहीँ संजय सिंह ठाकुर ने इस खबर को मात्र अफवाह बताते हुए इस खबर को निराधार बताया।
मुंबई के मुख्य बीजेपी प्रवक्ता

श्रीमती. संजू वर्मा ( मुख्य प्रवक्ता)

निरंजन शेट्टी

संजय सिंह ठाकूर

योगेश वर्मा

एडवोकेट आरती साठे

एडवोकेट राहुल तिवारी

News

​कांदिवली के शताब्दी अस्पताल में चूहों का आतंक, दो महिलाओं को बनाया शिकार


आपने सरकारी अस्पतालों की बदइंतजामी तो देखी होगी , लेकिन कांदिवली के शताब्दी अस्पताल में इन दिनों चूहों का आतंक है। इस सरकारी अस्पताल में इलाज कराने आए दो महिलाओं को चूहों ने अपना शिकार बना लिया। देखते ही देखते ये खबर पूरे अस्पताल में फैल गई।

ये दोनों महिलाएं पिछलें 10 दिनों से अस्पलात में इलाज करवा रही है। चूहों के काटने से इन दोनों को काफी गंभीर चोट आई है। 8 अक्टूबर को अस्पताल में इलाज के दौरान एक महिला को चूहे ने कांटा तो वही 29 सितंबर को ठिक ऐसी ही एक घटना एक और महिला के साथ घटी।

प्रमिला नेरुरकर नाम की इस महिला ने बताया की 29 सितंबर की रात को शताब्दी अस्पताल में में चूहो ने काटा तो वहीं 8 अक्टूबर को इलाज के दौरान रात में ही चूहे ने इस महिला को काटा।

शताब्दी अस्पताल के स्वास्थ अधिकारी डॉ. जयंत चव्हाण का कहना है की अस्पताल में चूहे कांटने की ये पहली घटना नहीं है, इसके पहले भी एक बच्चे को चूहे ने काटा था, अस्पताल के आप पास काफी झाड़ होने के कारण अस्पताल में चूहे आ जाते है। हर सप्ताह बीएमसी अधिकारियों की ओर से साफ सफाई की जाती है बावजूद इसके चूहों से छुटकारा नहीं मिलता है।